अविनाश साब्ले को फाइनल में जगह नहीं दी गई थीAFI की अपील के बाद फाइनल में शामिल किया गया भारतीय धावक अविनाश साब्ले दोहा में जारी विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में मंगलवार रात 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा के फाइनल में पहुंचने में कामयाब रहे.

साब्ले हीट-3 में आठ मिनट 25.23 सेकेंड का समय निकालते हुए सातवें स्थान पर रहे थे और शुरुआत में उन्हें फाइनल में जगह नहीं दी गई थी, लेकिन भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) की अपील के बाद उन्हें फाइनल में शामिल किया गया.एएफआई ने कहा कि साब्ले को रेस के दौरान दो बार ब्लॉक किया गया, जिसके कारण उनके समय पर प्रभाव पड़ा. एआईएफएफ ने एएफआई की इस अपील को मान लिया.

हालांकि साब्ले की पोजिशन में कोई बदलाव नहीं हुआ और उन्हें 16वें खिलाड़ी के रूप में फाइनल में जगह दी गई.हर हीट में शीर्ष तीन को फाइनल में जगह मिलती है. जबकि इनके बाद वो छह खिलाड़ी फाइनल में जाते हैं, जिन्होंने इन तीनों के बाद सबसे तेज समय निकाला है. साब्ले ने इस रेस के दौरान अपने पूर्व राष्ट्रीय रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया. उनका पूर्व राष्ट्रीय रिकॉर्ड आठ मिनट 28.94 सेकेंड का था.