19 सितंबर 2007... ठीक 12 साल पहले आज ही के दिन युवराज सिंह ने इतिहास रचा था. दक्षिण अफ्रीका में खेले गए पहले टी-20 वर्ल्ड कप में युवराज ने इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर की सभी 6 गेंदों पर 6 छक्के मारे थे. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अफ्रीकी धुरंधर हर्शल गिब्स के बाद एक ओवर में छह छक्के मारने वाले वह दूसरे बल्लेबाज बने थे.
एक ओवर की सभी गेंदों पर ताबड़तोड़ छक्के
भारत की पारी का 18वां ओवर था, एंड्रयू फ्लिंटॉफ गेंदबाजी कर रहे थे और उनकी युवराज के साथ कहा सुनी हो गई थी. दरअसल, फ्लिंटॉफ ने युवराज की तरफ भद्दे इशारे किए थे, लेकिन उसका खामियाजा ब्रॉड को भुगतना पड़ा. 19वें ओवर में युवराज ने ब्रॉड की सभी गेंदों को सीमा रेखा के पार पहुंचाया. क्रीज के दूसरे छोर पर खड़े कप्तान महेंद्र सिंह धोनी युवी को बस देखते रहे.

युवराज ने इस दौरान मात्र 12 गेंदों में ही अपना अर्धशतक पूरा कर लिया था, जो आज भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों में रिकॉर्ड है. युवी ने कुल 16 गेंदों में 58 रन बनाए इस दौरान उन्होंने 7 छक्के और 3 चौके मारे. युवी की पारी के दम पर ही भारत ने उस मैच में 218/4 रनों का स्कोर बनाया और इंग्लैंड को 18 रनों से हराया था. बाद में फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराकर खिताब अपने नाम किया था.

युवराज के क्रिकेट से संन्यास के बाद स्टुअर्ट ब्रॉड ने एक इंटरव्यू में कहा, 'युवी ने मुझे 6 छक्के जड़कर गेंदबाज बना दिया. जिस वक्त उन्होंने मुझे 6 छक्के मारे थे, उस वक्त मैं 21 साल का था. डेथ ओवर में गेंदबाजी करने का अनुभव नहीं था. इस मैच में युवराज गेंद को बहुत अच्छी तरह हिट कर रहे थे. उस दिन स्लोअर-यॉर्कर कोई भी डिलिवरी मेरा साथ नहीं दे रही थी.'37 साल के युवराज सिंह ने इसी साल जून में क्रिकेट को अलविदा कहा. उन्होंने 304 वनडे में 8701 रन बनाए, जिसमें उनके 14 शतक और 52 अर्धशतक शामिल हैं.

वहीं, 58 टी-20 इंटरनेशनल में उनके नाम 1177 रन हैं. साथ ही 40 टेस्ट मैचों में उन्होंने 3 शतक और 11 अर्धशतकों के साथ 1900 रन बनाए.