पटना के एग्जीबिशन रोड इलाके में गुरुवार की दोपहर में एक महिला से वाहन चेकिंग के दौरान चालान वसूलने के मुद्दे पर स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच भिड़ंत हो गई. इसमें पुलिस ने 11 लोगों के खिलाफ एकएफआईआर दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया. यही नहीं मामला इतना बढ़ गया था कि स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच जमकर मारपीट हुई.गिरफ्तार कर जेल भेजे गए सभी 11 लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 49, 504, 506 और 353 के तहत मामला दर्ज किया गया है. मुख्य तौर पर इन सभी 11 लोगों पर सरकारी काम में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाया गया है.दरअसल, गुरुवार दोपहर एग्जीबिशन रोड इलाके में रेनू देवी नाम की एक महिला को बिना सीट बेल्ट लगाए गाड़ी चलाते हुए ट्रैफिक पुलिस ने रोका. पुलिस ने सीट बेल्ट नहीं लगाने को लेकर महिला पर 5000 रुपये का चालान काटा. इसी मुद्दे पर महिला की पुलिस वालों के साथ जमकर बहस हुई.
खूब मचा बवाल
रेनू देवी और पुलिस की बहस के दौरान स्थानीय लोग भी वहां पर इकट्ठा हो गए और महिला के समर्थन में खड़े हो गए. इसके बाद मामला और बिगड़ गया जिसके बाद स्थानीय लोगों पर पुलिस के बीच जमकर मारपीट हुई. स्थानीय लोगों ने पुलिस पर पत्थरबाजी भी की जिसके जवाब में पुलिस को भी लाठीचार्ज करना पड़ा.इस मामले में गांधी मैदान थाने में ट्रैफिक दरोगा बृजेश कुमार सिंह ने रेणु देवी समेत 11 लोगों के खिलाफ एकएफआईआर दर्ज कराई जिसके बाद इन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया और कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया.सूत्रों के मुताबिक राजधानी में हुई इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पुलिस के रवैए से काफी नाराज हैं जिसकी वजह से शुक्रवार से राजधानी में वाहन चेकिंग अभियान पर रोक लगा दी गई है. आज से पुलिस वाहन चेकिंग को लेकर केवल जन जागरूकता अभियान चलाएगी.