लखनऊ:केन्द्र की अगली सरकार के गठन के मकसद से गठबंधन बनाने की कवायद में विपक्ष पूरी तरह से जुटा हुआ है, जिसके चलते विपक्ष के नेताओं की मुलाकात और बैठकों का दौर जारी है। इसी कड़ी में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव बसपा सुप्रीमो मायावती के आवास माल एवेन्यू में उनसे मुलाकात करने पहुंचे। कयास लगाए जा रहे हैं कि एग्जिट पोल के रिजल्ट को देखते हुए गठबंधन अपनी आगे की रणनीति बना रहा है। बताया यह भी जा रहा है कि इस मुलाकात में दिल्ली में विपक्ष की होने जा रही बैठक को लेकर भी चर्चा हुई है।

वहीं अखिलेश-मायावती की मुलाकात के बाद सियासी गलियारों में भी हलचल तेज हो गई है।दोनों नेताओं के बीच एक घंटे तक बात हुई। फिलहाल दोनों नेताओं के बीच हुई बातचीत के बारे में अभी जानकारी नहीं मिल पाई है। मीडिया के सवाल पूछने पर अखिलेश ने कहा कि 23 मई का इंतजार कीजिए। बता दें कि इससे पहले तेलुगुदेशम पार्टी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू शनिवार शाम सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती से मिले। अखिलेश ने इस मुलाकात के बारे में टवीट करते हुए लिखा था कि, सम्माननीय मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू जी का लखनऊ में स्वागत कर प्रसन्नता हुई । सपा सूत्रों ने बताया कि भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों का मजबूत गठबंधन तैयार करने को लेकर दोनों नेताओं के बीच संभवतः चर्चा हुई है।

नायडू तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल और माकपा महासचिव सीताराम येचुरी से कई दौर की बैठकें पहले ही कर चुके हैं। नायडू की तेदेपा पहले राजग में शामिल थी लेकिन कुछ ही महीने पहले वह गठबंधन से अलग हो गई। विपक्षी दल अगली सरकार के गठन में भाजपा के खिलाफ विपक्ष का संयुक्त मोर्चा तैयार करने में संलग्न हैं।