लखनऊ:अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले सुभासपा पार्टी के अध्यक्ष व यूपी सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर पर आखिरकार गाज गिर ही गयी. सोमवार को सीएम योगी की सिफारिश के बाद राज्यपाल ने राजभर को यूपी कैबिनेट में मंत्री पद से हटा दिया. ओमप्रकाश राजर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हम इस फैसले का स्वागत करते हैं. उन्होंने योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि पिछड़ों के साथ इस तरह का व्यवहार होगा यह हमें पता था. कहा कि हम लड़ाई लड़ते रहेंगे.

हाल ही में ओम प्रकाश राजभर ने भाजपा से किनारा कर लिया था. राजभर यूपी सरकार में मंत्री पद से इस्तीफा दे चुके हैं लेकिन अभी तक उनका इस्तीफा मंजूर नहीं हुआ था. बता दें कि इससे पहले के चुनावों में सुभासपा भाजपा के साथ थी. इस पार्टी का पूर्वांचल में अच्छा असर माना जाता है.2017 में योगी सरकार के आने के बाद ओम प्रकाश राजभर को मंत्री बनाया गया. सरकार के गठन के बाद से ही राजभर योगी सरकार के लिए परेशानी का सबब बने रहे. योगी सरकार के कई फैसलों का सामने से आकर विरोध किया. तमाम विरोधों के बाद भी बात नहीं बनी बीच लोकसभा चुनाव में उन्होंने भाजपा से किनारा कर लिया।