उरई। नगर पालिका परिषद द्वारा बनवाए गए सामुदायिक शौचालय का छज्जा गिरने के मामले में राजनैतिक दलों के नेताओं ने उपजिलाधिकारी को ज्ञापन देकर निर्माण कार्य की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद दिलाए जाने की मांग की। पूर्व सपा नगर अध्यक्ष इकबाल मंसूरी, बसपा नेता अशफाक राइन, अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के नगर अध्यक्ष अजीत कुमार, सभासद प्रतिनिधि जैद सिद्दीकी, सभासद नईम आदि ने उपजिलाधिकारी भैरपाल सिंह को ज्ञापन देकर कहा कि नगर पालिका परिषद द्वारा लगभग तीन माह पूर्व नौ लाख रुपए की लागत से सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया गया था लेकिन शौचालय निर्माण में किस कदर मानकों की अनदेखी की गई यह उस समय देखने को मिल गया जब तीन माह पूर्व बने उक्त शौचालय का छज्जा भराभरा कर गिर गया जिसमें आसू सिद्दीकी पुत्र शाहिद सिद्दीकी निवासी चिमनदुबे घायल हो गया। यदि शौचालय मानक के अनुसार बनाया गया होता तो इस प्रकार की दुर्घटना न होती। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी वार्ड नंबर छह मोहल्ला सहावनाका में कंजर कालोनी में बने शौचालय की दीवार निर्माण के समय ही ढह गई थी। इसके बाद भी पालिका प्र्रशासन ने सबक नहीं लिया। ज्ञापन में मानक विहीन निर्माण कार्यों की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई तथा घायल आसू को पांच लाख रुपए आर्थिक मदद की मांग की गई। इस मौके पर सलमान मंसूरी, मोंटू मिश्रा, फीरोज खान, वीरबहादुर कुशवाहा, निजाम, वसीम खान, इशहाक मंसूरी, खालिद शाह, वारिस, हाजी अतीक, अबूजर आदि लोग मौजूद रहे।