लखनऊ। 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर समाजवादी पार्टी ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पार्टी संगठन को मजबूत करने में लग गए हैं। अखिलेश यादव लगातार पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति बनाने में लगे हुए हैं। इसके साथ ही अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी के निष्क्रिय नेताओं पर कार्यवाई कर उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा रहे हैं। इसी क्रम में सपा के बड़े नेता को पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता गोरख शर्मा को निष्कासित कर दिया गया है। महानगर अध्यक्ष द्वारा उन्हें 6 सालों के लिए निष्कासित किया गया है। सपा नेताओं ने बताया कि गोरख शर्मा पर पार्टी संगठन को तोड़ने और कमजोर करने का आरोप है। इनके सपा से निकाले जाने की जानकारी से सभी लोग हैरान हैं। कार्यकर्ताओं के बीच ये अपनी खास पहचान के कारण जाने जाते हैं। विदेश यात्रा से लौटकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक करना शुरू कर दिया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनावों को देखते हुए पार्टी संगठन को मजबूत करना शुरू कर दिया है। मुलायम सिंह के मैनपुरी से लोकसभा चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद से बीजेपी ने यहाँ अपनी जड़ें मजबूत करना शुरू कर दिया है। यही कारण है कि सपा की जीती हुई सीट को बचाने के लिए अखिलेश यादव खुद मैदान में आ गए हैं। उन्होंने बागी सपा नेताओं पर कार्यवाई करना शुरू कर दिया है।