विंडीज क्रिकेट टीम के दिग्गज ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। ब्रावो ने यह फैसला भारत के खिलाफ खेली जा रही वनडे में नहीं चुने जाने के बाद लिया है। भारत दौरे के लिए चुनी गई वनडे टीम में उनको शामिल नहीं किए जाने से दिग्गज काफी हैरान थे।
ब्रावो ने कहा, "आज मैं क्रिकेट जगत को बताना चाहता हूं कि मैंने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है।" ब्रावो ने आगे कहा, "मुझे आज भी 14 साल पहले का वो दिन याद है, जब मैंने वेस्टइंडीज के लिए टेस्ट मैच में डेब्यू किया था और इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान में पहली बार टेस्ट कैप पहनकर उतरा था। मेरे अंदर क्रिकेट को लेकर जुनून कभी कम नहीं हुआ और ये हमेशा बना रहा।"
ब्रावो ने कहा, "मैं अब वही करना चाहता हूं जो हर खिलाड़ी करता है। मैं युवा खिलाड़ियों को मौका देने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले रहा हूं। इस मौके पर मैं उन सब लोगों का धन्यवाद देना चाहूंगा, जिन्होंने मेरा साथ दिया। मैं ड्रेसिंग रूम में साथी खिलाड़ियों के साथ बिताए गए पलों को कभी नहीं भूल पाऊंगा।" विंडीज के लिए साल 2004 में वनडे डेब्यू करने वाले ब्रावो ने आखिरी मैच चार साल पहले 2014 में खेला था। 35 साल के ब्रावो ने विंडीज के लिए 40 टेस्ट मैचों में 2,200 रन और 86 विकेट, 164 वनडे मैचों में 2,968 रन और 199 विकेट और 66 टी20 मैचों में 1,142 रन और 52 विकेट लिए थे