डायबिटीज यानी की मधुमेह के मरीजों की गिनती बहुत तेजी से बढ़ रही है। मरीजों का तेजी से बढ़ता आंकड़ा दुनियाभर में चिंता का विषय बन गया है। इस बीमारी में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है, जिससे इंसुलिन क्षमता प्रभावित होती है। ऐसे में अक्सर डायबिटीक पेशेंट अपनी डाइट का बहुत ज्यादा ख्याल रखते हैं ताकि उनकी शुगर ना बढ़े। वह अपनी डाइट में कई ऐसी चीजों को भी शामिल नहीं करते जो उनके लिए फायदेमंद है। उन्हीं में से एक हैं नारियल पानी। डायबिटीज पेशेंट का मानना है कि नारियल पानी पीने से शुगर लेवल बढ़ता है। मगर ऐसा नहीं अगर आप सही मात्रा में नारियल पानी पिएंगे तो डायबिटीज कंट्रोल में रहेगी। 
कितनी मात्रा में नारियल पानी पीना उचित?
जर्नल ऑफ मेडिकल फूड में प्रकाशित एक स्टडी में यह बात साबित हुई है कि नारियल पानी डायबिटीज कंट्रोल करने में मददगार है। मगर डायबिटीज मरीजों को दिन में सिर्फ 1 गिलास नारियल पानी पीना चाहिए। भले ही इसमें बहुत सारे स्वास्थवर्धक गुण भी छुपे हैं लेकिन ज्यादा मात्रा में नारियल पानी लेना डायिबटीज मरीजों के लिए खतरनाक है।  
डायबिटीज में क्यों फायदेमंद है नारियल पानी?
नारियल पानी खून से शुगर लेवल को कम करता है। दरअसल इंसुलिन की कमी की वजह से डायबिटीज की समस्या होती है। नारियल पानी इंसुलिन को बढ़ाता है। मैक्रोबायोटिक पोषण विशेषज्ञ और स्वास्थ्य कोच शिल्पा अरोड़ा का कहना है कि नारियल पानी में प्रोटीन, प्राकृतिक उच्च पोटेशियम और प्राकृतिक मिठास होती है जो डायबिटीज मरीजों के लिए बहुत अच्छा है। इसके साथ ही नारियल पानी के अंदर मिनरल, मैग्नीशियम और पोटेशियम होता है जो शरीर में पीएच संतुलन और पाचन क्रिया ठीक करता है। इसके अलावा नारियल पानी पीने से किडनी ठीक ढंग से काम करती है। 
ध्यान रखने योग्य बात
जरूरी नहीं की कोई चीज अगर किसी एक के लिए सही है तो वह आपके लिए भी ठीक होगा। डायबिटीज मरीज नारियल पानी पीने से पहले एक बार डॉक्टरी सलाह जरूर लें।