नाग पंचमी सावन शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है। इस महीने नाग पंचमी 15 अगस्त 2018 को मनाई जाएगी। हिन्दू धर्म में नाग पंचमी का अपना एक विशेष महत्व है। इस दिन देश के अलग-अलग हिस्सों में सांप की पूजा की जाती है। साथ ही इस दिन 12 सर्प स्वरूपों की पूजा की जाती है और दूध चढ़ाया जाता है। इस दिन की मान्यता है कि नागराज को प्रसन्न करने से भगवान शिव भी स्वयं प्रसन्न हो जाते हैं और भक्तों की परेशानी दूर करते हैं।
नाग पंचमी 2018: महत्व 
नाग पंचमी के दिन नाग देवता की फल, फूल, प्रसाद और मंत्रों के साथ पूजा की जाती है और दूध से स्नान कराया जाता है। इस दिन रुद्राभिषेक का भी अत्यधिक महत्व है। ऐसा करने से भगवान शंकर का आशीर्वाद प्राप्त होता है और नाग देवता पृथ्वी को संतुलित करते हुए मानव जीवन की रक्षा करते हैं। इस दिन को गरुड़ पंचमी के नाम से भी जानते हैं। नाग देवता के साथ पंचमी के दिन गरुड़ की पूजा भी जाती है और सर्पों से रक्षा की प्रार्थना की जाती है।
नाग पंचमी शुभ मुहूर्त 
नाग पंचमी तिथि- 15 अगस्त 2018 
दिन- बुधवार
पूजा का सबसे शुभ मुहूर्त – 15 अगस्त को सुबह 05:55 से 8:31 तक
पंचमी तिथि प्रारंभ – 15 अगस्त को सुबह 03:27 बजे शुरू
पंचमी तिथि समाप्ति – 16 अगस्त को सुबह 01:51 बजे खत्म