2019 लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर का मुद्दा राजनीति के गलियारों में फिर गूंजना शुरू हो गया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने संकेत दे दिए हैं कि ये इस बार चुनावी मुद्दा बन सकता है। शाह ने दावा किया कि लोकसभा चुनाव के पहले अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू कर दिया जायेगा इसके लिए सरकार जरूरी कदम उठाएगी। उनके इस बयान के बाद राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर तूल पकड़ सकता है। 
खबरों के अनुसार शाह ने शुक्रवार को प्रदेश पार्टी कार्यालय में तेलंगाना भाजपा नेताओं और कैडर के साथ बातचीत के दौरान कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य पी. शेखरजी ने मीडिया को बताया ​कि भाजपा अध्यक्ष ने यह भी साफ कर दिया है कि समय से पहले चुनाव कराने की कोई संभावना नहीं है। शाह चुनाव रणनीति पर चर्चा के लिए एक दिवसीय दौरे पर हैदराबाद पहुंचे थे। 
गौरतलब है कि भाजपा के कई नेता समय-समय पर राम मंदिर के निर्माण को लेकर बयान देते रहे हैं। हाल ही में पूर्व सांसद और राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ. रामविलास दास वेदांती ने कहा था कि भाजपा अगर राम मंदिर का निर्माण नहीं कराती है तो वो रसातल में चली जाएगी। उन्होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश में चुनाव से पहले योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर के नाम ही पूरे राज्य में घूम-घूमकर वोट मांगा था और उसी का असर था कि वह रिकॉर्ड मतों से चुनाव जीत पाए। अब अगर भाजपा राम मंदिर का निर्माण नहीं कराती है तो निश्चित ही वो रसातल में चली जाएगी।