तेज धूप, रूखी हवाएं, पसीना और डेंड्रफ की वजह से समर सीजन में बालों की केयर टफ हो जाती है। इससे बचने के लिए आपको अपनी डाइट, लाइफस्टाइल के साथ ही कुछ और बातों का भी खयाल रखना जरूरी है। इन बातों पर अमल करके इस मौसम में आपको कोई भी समस्या नहीं आएगी। गर्मी का मौसम बालों के लिए कईं समस्याएं लेकर आता है। इस मौसम में बाल बाकी मौसमों की तुलना में अधिक झड़ते हैं।
इसके अलावा डेंड्रफ, रूखे, बेजान बाल, बालों का रंग बदल जाना, स्कॉबल्पो और बालों का चिपचिपा हो जाना जैसी समस्याएं भी बढ़ जाती हैं। संतुलित आहार और नियमित व्यायाम से बालों की समस्याओं को नियंत्रित किया जा सकता है, फिर भी मौसम की मार तो बालों को सहनी ही पड़ती है। ऐसे में चाहिए कि बालों की विशेष रूप से देखभाल की जाए ताकि वे हेल्दी बने रहें। 
प्रमुख समस्याएं
बढ़ते तापमान और गर्मी से बालों के क्युटिकल के क्षतिग्रस्त होने की आशंका काफी बढ़ जाती है, जिससे बाल रूखे, बेजान, दो मुंहे हो जाते हैं। इस मौसम में डेंड्रफ और बाल झड़ने की समस्या भी बहुत बढ़ जाती है। बालों का स्वास्थ्य और सुंदरता बनाए रखने के लिए जरूरी है कि आप बालों की समस्याओं के साथ ही उनसे बचने के उपाय भी जानें।
बालों का झड़ना: गर्मियों में एक बड़ी समस्या बाल झड़ने की हो जाती है। चूंकि इस मौसम में पसीना अधिक निकलता है, पसीने को निकालने के लिए स्कैल्प की सतह के रोमछिद्र फैल जाते हैं, इससे हेयर फॉलिकल कमजोर हो जाते हैं और बाल आसानी से गिरने लगते हैं। डेंड्रफ, स्कैल्प पर लगातार खुजली, धूल और प्रदूषण बाल झड़ने के कुछ और कारण हैं। 
कैसे बचें: जब आप बाहर धूप में निकलें तो अपने सिर को स्कार्फ या टोपी से ढंकें। गर्मियों में हल्का और सुपाच्य भोजन करना भी जरूरी है, जिसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और लाल-हरी सब्जियां हों, ये बालों को स्वस्थरखती हैं। 
चिपचिपे बाल: जितनी अधिक उमस होती है, उतने हाइड्रोजन बॉन्ड्स अधिक टूटते हैं, इससे बालों में नमी हो जाती है। जिससे सिर चिपचिपा और बाल तैलीय हो जाते हैं। 
कैसे बचें: बालों को सप्ताह में दो-तीन बार धोने के बजाय चार-पांच बार धोएं। अपने बालों के प्रकार के अनुसार सही शैंपू और कंडीशनर का चुनाव करें। वैसे गर्मियों में माइल्ड या हर्बल शैंपू का उपयोग करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इस मौसम में बालों को अधिक बार धोना होता है। 
रूखे, बेजान और दोमुंहे बाल: गर्मियों में पसीना बहुत आता है और इसके कारण स्कैल्प  और बालों पर सॉल्ट्स जमा हो जाता है। सॉल्ट का जमाव और तापमान में बढ़ोतरी क्युटिकल को क्षतिग्रस्त कर सकती है, जिससे बाल रूखे, बेजान और आसानी से टूटने वाले हो जाते हैं। गर्म और उमस भरी हवाएं भी बालों को रूखा बना देती हैं, जिससे वो अस्त-व्यस्त हो जाते हैं।
कैसे बचें: सूरज की तेज रोशनी में बालों में मिनरल्स की कमी हो जाती है, जिससे वो दो मुंहे हो जाते हैं। इसके लिए ढेर सारा पानी पिएं ताकि शरीर से विषैले पदार्थ निकल जाएं। अपनी डाइट में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाएं। नियमित रूप से अपने बालों की ट्रिमिंग कराते रहें। सप्ताह में कम से कम एक बार नारियल या आंवला तेल से मसाज अवश्य करें। इससे बेजान बालों में जान आ जाती है। दो मुंहे बालों की समस्या भी कम होती है। 
डैंड्रफ: गर्म और नम मौसम के साथ सूर्य की तेज किरणों, प्रदूषण और धूल के संपर्क में रहने से डेंड्रफ की समस्या बढ़ जाती है। 
कैसे बचें: धूप में कम निकलें, अपने स्कैल्प को साफ, सूखा और ठंडा रखें। अच्छे एंटी-डेंड्रफ शैंपू का उपयोग करें, जो फंगस के संक्रमणों को एकत्र होने से रोकेगा, जो डेंड्रफ का कारण बनते हैं। सप्ताह में एक बार अपने बालों की नारियल के तेल में कुछ बूंदे नीबू का रस मिलाकर मसाज करें। 
रखें ख्याल

  • तनाव और चिंता से दूर रहें। योग-ध्यान करें या फिर तनाव कम करने के दूसरे तरीके ढूंढ़ें।
  • आठ घंटे की पूरी नींद लें।
  • माइल्ड शैंपू और कंडिशनर का इस्तेनमाल करें ताकि बालों को अनावश्यक नुकसान ना हो।
  • तेज हवा, धूप, धूल और प्रदूषण से बालों की रक्षा के लिए स्कार्फ या कैप पहनें।
  • गर्मियों में बालों पर कोई भी रासायनिक प्रक्रिया जैसे हेयर कलर, पर्मिंग और स्ट्रेटनिंग कराने से बचें।
  • गर्मियों में ड्रायर का उपयोग बिल्कुल ना करें। बालों को प्राकृतिक ढंग से सूखने दें।